डा. एस. सत्यकुमार, पी.एच.डी.




डा. एस. सत्यकुमार, पी.एच.डी.

वैज्ञानिक - एफ
दूरभाष - 0135-2640111-115 विस्तार: 230
मोबाइल नम्बर: 09412901529
ई. मेल-ssk@wii.gov.in  

 

मैंने वर्ष 1989 से भारतीय हिमालय में पाये जाने वाले पर्वतीय खुरदारों, गैलीफाम्र्स तथा भालुओं पर शोध कार्य किया। मेरी रूचि इन शोध क्षेत्रों में है- पर्वतों में वन्यजीव संरक्षण तथा पारिस्थितिकी, दुर्लभ तथा संकटग्रस्त प्रजातियों की मॉनिटरिंग तथा अध्ययन के लिए क्षेत्रीय तकनीकों का विकास; दक्षिण भारतीय समुद्र व अंटार्कटिका के वन्यजीव। मैं उच्च तुंगता पारिस्थितिकी प्राकृतिक वास पारिस्थितिकी, जनसंख्या पारिस्थितिकी तथा मात्रात्मक पारिस्थितिकी के क्षेत्र में शिक्षण कार्य कर रहा हूँ। वर्तमान में, मैं साउथ एशियन ब्राउन बीयर एक्सपर्ट टीम का सह-अध्यक्ष तथा आई यू सी एन/एस एस सी कैप्रिने, गैलीफाम्र्स तथा बीयर स्पेशलिस्ट गु्रप्स का सदस्य हूँ।

विशिष्टता

पर्वतीय खुरदारों की पारिस्थितिकी; गैलीफाम्र्स; भालू; उच्च तुंगता प9ारिस्थितिकी; प्राकृतिकवास पारिस्थितिकी; जनसंख्या पारिस्थितिकी; दक्षिण भारतीय समुद्र; अंटार्कटिका।

जारी परियोजनायें

- कंचन जंगा जैवमण्डल रिजर्व, सिक्किम में मांस भक्षियों उनके शिकार व उनके प्राकृतिवासों के लिए स्थानिक डाटाबेस का विकास।

- दाचिगम राष्ट्रीय पार्क, कश्मीर में एशियाई काले भालू की पारिस्थितिकी। भारत में रैड जंगलफाउल का संरक्षण

मुख्य प्रकाशन

  • रमेश के., एस. सत्यकुमार एवं जी.एस. रावत (2008)। ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क, भारत म पश्चिमी ट्रेगोपान को रेडियो टेªकिंग करने व पकड़ने के तरीके। (ट्रेगोपान मैलानोसेफालस जे.ई. ग्रे 1829) जर्नल आफ बाम्बे नेचुरल हिस्ट्री सोसायटी 105 (2); 127-132।

  • सत्यकुमार एस. एवं एस. विश्वनाथ (2003)। केदारनाथ वन्यजीव अभयारण्य भारत में एशियाई काले भालू (अर्सस थिबेटेनस) की खाद्य आदतों का अवलोकन बीज उत्पादन व उत्पादन को बढ़ाने में काले भालू की भूमिका के प्राथमिक साक्ष्य। अर्सस 14 (1) : 719-723।

  • सत्यकुमार एस. (2001)। भारत में भूरे भालू एवं एशियाई काले भालू की स्थिति एवं उनका प्रबंधन। अर्सस 12 : 21-30।